सूजी की खस्ता कुरकुरी मठरी | Khasta Mathri Rava Masala | Suji Ki Mathri

होली के लिए खासतौर पर तैयार की गई सूजी की खस्ता कुरकुरी मठरी. इन्हें त्यौहार के कुछ दिन पूर्व बनाकर ही रख लें और स्नैक्स के रूप में बाकी पकवानों के साथ सर्व करें.

आवश्यक सामग्री – Ingredients for Suji Ki Mathri – Holi Special

  • सूजी – 2.5 कप (450 ग्राम)
  • तेल – ½ कप (110 ग्राम)
  • हरी मिर्च – 2 (बारीक कटी हुई)
  • नमक – 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • जीरा – 1 छोटी चम्मच
  • अजवायन 1 छोटी चम्मच
  • तेल – तलने के लिए

विधि – How to make Khasta Mathri Rava Masala

एक बड़े प्याले में सूजी निकाल लीजिए. सूजी में तेल, बारीक कटी हरी मिर्च, नमक, जीरा और अजवायन डालकर सभी चीजों को अच्छे से मिलाते हुए मिक्स कर लीजिए.

सूजी को गुंथने के लिए हल्का गरम पानी ले लीजिए और थोड़ा पानी डालते हुए नरम आटा गूंथकर तैयार कर लीजिए. इतना आटा लगाने में ½ कप से थोड़ा सा ज्यादा पानी लगा है. आटे को ढककर 20 मिनिट के लिए रख दीजिए आटा सैट होकर तैयार हो जाएगा.

20 मिनिट बाद, आटे को हल्का सा मसल लीजिए. आटे से छोटी छोटी लोइयां तोड़ लीजिए. एक लोई उठाएं. उसे गोल कीजिए और हथेली की मदद से थोड़ा सा दबाकर पेड़े का आकार दीजिए. इसे चकले पर रखकर बेलन की मदद से बेल लीजिए. मठरी को थोड़ा मोटा ही बेलें. इस बेली हुई मठरी को दोनो ओर से फोर्क की मदद से छेद कर लीजिए ताकि मठरी फूले नहीं. फोर्क की हुई मठरी को प्लेट में रख दीजिए. इसी तरह सारी मठरियां बनाकर तैयार कर लीजिए.

कढ़ाही में तेल डालकर गरम कीजिये. मठरी तलने के लिए एकदम हल्का गरम तेल होना चाहिए. गैस भी धीमी ही रखें और तेल में मठरी डाल दीजिए. मठरी के सिककर तेल के ऊपर आ जाने पर इसे पलट दीजिए और मठरियों को पलट-पलट कर अच्छी गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिए. तली हुई मठरियां प्लेट में निकालकर रख लीजिये. सारी मठरियां इसी तरह तलकर तैयार कर लीजिए. इतने आटे में 30 मठरियां बनकर तैयार हो जाती हैं और 1 बार की मठरी तलने में 7 से 8 मिनिट का समय लग जाता है.

सूजी की कुरकुरी खस्ता मठरियां तैयार हो गई हैं. आप ये मठरियां अभी खाइये और बची हुई मठरियों को पूरी तरह से ठंडा हो जाने पर एअर टाइट कन्टेनर में रख लीजिये. जब भी आपका मन हो कन्टेनर से मठरियां निकालिये और खाइये. ये मठरियां आप 2 महिने तक भी खा सकते हैं.

सुझाव

  • मठरी बनाने के लिए बारीक सूजी ली गई है. अगर आपके पास बारीक सूजी न हो तो आप मोटी वाली सूजी भी ले सकते हैं लेकिन तब आप उसमें ½ कप मैदा मिला लीजिए.
  • मठरी को धीमी और मीडियम आंच पर ही तलें.